Tuesday, June 28, 2011

किसी संस्था में आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली क्यों लागू करें?



किसी भी संस्था की आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रमाणीकरण की चाहत और उसे प्राप्त करने के कई प्रत्यक्ष लाभ हैं, तभी तो आज विश्वभर में अनेक संस्थाएं इस प्रमाणन को प्राप्त कर रही हैं. हम संक्षेप में चार कारणों की चर्चा करेंगे, जिनसे यह पता चलेगा की संस्थाओं को आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली क्यों लागु करनी चाहिए.
पहला, सभी संस्थाओं (उद्योगों, सेवाओं, सरकारी, गैर-सरकारी) के लिए सामान्यत: गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए आईएसओ 9001:2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक पुरे विश्व में स्वीकार्य हैं. इसका अर्थ यह है कि आईएसओ 9001:2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रमाणन लेना व्यापार करने वाले अन्य पक्षों (सामान्यत: डीलर्स, आयातकर्ताओं व ग्राहकों) को यह आश्वासन देता है कि संस्था ने अपनी गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में अंतर्राष्ट्रीय मान्यता की मानक स्तर को प्राप्त कर लिया है.

दूसरा कारण यह है कि बहुत से बड़े खरीददार, बहुराष्ट्रीय उत्पादनकर्ता, वितरको की बड़ी श्रृंखला और सरकारी व गैर-सरकारी अभिकरण / विभाग इस बात पर जोर देने लगे हैं कि उनके वितरक के पास आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक का प्रमाणन हो, उसके बाद ही वे उससे काम की बात करना चाहेंगे. व्यक्तिगत संपरीक्षण उतने ही महत्वपूर्ण बने रहेंगे, जितने वे अभी हैं, लेकिन इसे किसी तीसरे स्वतन्त्र पक्ष अर्थात किसी प्रमाणन संस्था द्वारा आईएसओ 9001 :2008 प्रमाणन लेने से उसकी नींव मजबूत हो जाती है, जिसपर वितरक संपरीक्षण आधारित हो सकते हैं और जिससे काम बड़ा आसान हो सकता है.

तीसरा कारण, यह मान्यता बनती जा रही है कि जिन उद्द्योगों में उत्पाद प्रमाणन (product certification) एक सामान्य प्रथा बन गयी है, वहां नियामक अभिकरण (regulatory agencies) यह देखने लगे हैं कि संस्था ने उत्पाद प्रमाणन से पहले आईएसओ 9001 :2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रमाणन ले लिया है अथवा नहीं.

चौथा कारण, अनेक देशों के विधि-विधान में एक बड़ा पहलू यह है कि संस्थाओं को यह दर्शाना पद सकता है कि उन्होंने अपने उत्पादों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा लिए हैं. आईएसओ 9001 : 2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक पर आधारित प्रमाण इस आशय के माने जा सकते हैं कि संस्था ने अपने उत्पाद तैयार करने और उसकी सुपुर्दगी में पर्याप्त सावधानी बरती है. किसी उत्पाद विशेष की गुणवत्ता विफल हो जाने की अप्रिय स्थिति में कानूनी कार्रवाई के समय यह संस्था के लिए उपयोगी सिद्ध हो सकता है.

संक्षेप में यह कहा जा सकता है कि जो संस्था अन्य संस्थाओं (विशेषकर बड़ी संस्थाओं) के साथ और देश की सीमा के बाहर व्यापार को उत्सुक है, उसके लिए आईएसओ 9001 : 2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रमाणन लेना आवश्यक हो जाएगा और बहुत सी संस्थाओं के लिए तो यह आवश्यक हो भी गया है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग .....

No comments:

Post a Comment