Thursday, October 13, 2011

उत्पाद उपलब्धि की आयोजना

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ में उत्पाद उपलब्धि की आयोजना अपेक्षाओं का उद्देश्य क्या है और ये अपेक्षाएं क्या हैं?



उत्पाद उपलब्धि की आयोजना अपेक्षाएं अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ के पैरा ७.१ में वर्णित हैं तथा इसका उद्देश्य समुचित आयोजना (adequate planning) करना है, ताकि आयोजना का निर्गत (output of planning) प्रचालन की विधि (method of operation) के लिए अनुकूल हो. मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार संस्था के लिए जरुरी है कि संस्था उत्पाद उपलब्धि के लिए आवश्यक प्रक्रियाओं की आयोजना और उनका विकास करे. उत्पाद उपलब्धि की आयोजना गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की अन्य प्रक्रियाओं की अपेक्षाओं (requirements) के प्रति अनुकूल (consistent) हों. इस सन्दर्भ में मानक के पैरा ४.१ (सामान्य अपेक्षाओं) देखने का उल्लेख भी मानक में इंगित है.



मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार संस्था उत्पाद उपलब्धि आयोजना में निम्न का, जो उपयुक्त हो, निर्धारण करे -
- गुणवत्ता लक्ष्य (Quality objectives)
- उत्पाद के लिए अपेक्षाएं (requirements for the product)
- प्रक्रियाओं और प्रलेखों को संस्थापित करने की जरुरत
- उत्पाद विशेष के लिए संसाधनों को प्रदान करने की जरुरत
- उत्पाद विशेष के लिए आवश्यक सत्यापन, वैधीकरण, मानिटरिंग, मापन, निरीक्षण व जांच गतिविधियाँ
- उत्पाद स्वीकार करने के लिए मापदंड (criteria)
- आवश्यक अभिलेख, यह साक्ष्य देने के लिए कि उपलब्धि प्रक्रियाएं (realization processes) और परिणामित उत्पाद (resulting product) अपेक्षाओं को पूरा करते हैं.



मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार आयोजना का निर्गत संस्था के प्रचालन की विधि के लिए अनुकूल हों.



इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

उत्पाद उपलब्धि (Product realization)

संक्षेप में बताएं कि अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए उत्पाद उपलब्धि अपेक्षाएं किससे सम्बंधित हैं और किस पैरा में वर्णित हैं?



अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए उत्पाद उपलब्धि अपेक्षाएं मानक के पैरा ७ में वर्णित हैं, जो निम्न से सम्बंधित हैं -
- पैरा ७.१ - उत्पाद उपलब्धि की आयोजना (Planning of product realization)
- पैरा ७.२ - ग्राहक सम्बन्धी प्रक्रियाएं (Customer related processes)
- पैरा ७.३ - परिरूप और विकास (design and development)
- पैरा ७.४ - खरीद (Purchasing)
- पैरा ७.५ - उत्पादन और सेवा प्रावधान (Production and service provision)
- पैरा ७.६ - मानिटरिंग और मापन उपकरण का नियंत्रण (Control of monoting and measurement equipment)

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Tuesday, October 11, 2011

संरचना (Infrastructure) अपेक्षाएं और कार्य वातावरण (work environment) अपेक्षाएं

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में संरचना (Infrastructure) अपेक्षाएं मानक के किस पैरा में वर्णित हैं तथा ये अपेक्षाएं क्या हैं?





अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में संरचना अपेक्षाएं मानक के पैरा ६.३ में वर्णित हैं, जिनका उद्देश्य उत्पाद अपेक्षाओं से समरूपता (अनुपालना) पाने के लिए आवश्यक और उपयुक्त संरचना की उपलब्धता कराना है. मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार संस्था उत्पाद अपेक्षाओं से समरूपता (अनुपालना) पाने के लिए आवश्यक संरचना (infrastructure) निर्धारित करे, प्रदान करे और संपोषित करे (अर्थात बनाए रखे). संरचना में, जैसा संस्था के लिए लागू हो, निम्न सम्मिलित हैं - (अ) भवन, कार्यस्थल और सम्बन्धित उपयोगिताएं, (ब) हार्डवेयर और सौफ्टवेयर प्रक्रिया उपकरण, तथा (स) सहायक सेवायें, जैसे परिवहन सेवा, सम्प्रेषण सेवा, सूचना प्रणालियाँ आदि.

कार्य वातावरण से क्या तात्पर्य है तथा अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में कार्य वातावरण (work environment) अपेक्षाएं मानक के किस पैरा में वर्णित हैं तथा ये अपेक्षाएं क्या हैं?



कार्य वातावरण उन स्थितियों (conditions) से सम्बन्धित है जिसके अंतर्गत कार्य संपन्न होता है. 'कार्य वातावरण' पद में भौतिक, पर्यावरणीय और अन्य कारण (जैसे, शोर, ताप, नमी, प्रकाश या मौसम) शामिल हैं. अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में कार्य वातावरण से सम्बन्धित अपेक्षाएं मानक के पैरा ६.४ में वर्णित हैं,तथा इन अपेक्षाओं का उद्देश्य संस्था में उचित कार्य वातावरण की उपलब्धता कराना है. मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार संस्था उत्पाद अपेक्षाओं से समरूपता (अनुपालना) पाने के लिए आवश्यक कार्य वातावरण निर्धारित करे और उसका प्रबंध करे.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

मानव संसाधन (Human resources) अपेक्षाएं

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में मानव संसाधन (Human resources) अपेक्षाएं मानक के किस पैरा में वर्णित हैं, इन अपेक्षाओं का उद्देश्य क्या है तथा ये अपेक्षाएं क्या हैं?

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में मानव संसाधन अपेक्षाएं मानक के पैरा ६.२ में वर्णित हैं, जो निम्न से सम्बंधित हैं:
- पैरा ६.२.१ - सामान्य (General)
- पैरा ६.२.२ - सक्षमता, प्रशिक्षण और जागरूकता (Competence, training and awareness)



सामान्य (General)

मानक के पैरा ६.२.१ में वर्णित अपेक्षाओं का उद्देश्य संस्था में उत्पाद अपेक्षाओं से अनुरूपता प्रभावित कार्य करने वाले सक्षम कार्मिकों की उपलब्धता कराना है. मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार उत्पाद अपेक्षाओं से अनुरूपता को प्रभावित किये जाने वाले कार्य करने वाले कार्मिक समुचित शिक्षा, प्रशिक्षण, कौशल व अनुभव के आधार पर सक्षम होने चाहिए. इस पैरा के अंत में एक नयी टिप्पणी को जोड़ा गया है, जिसमें यह स्पष्ट किया गया है कि उत्पाद अपेक्षाओं से अनुरूपता गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में कोई भी कार्य करने वाले कार्मिक द्वारा प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष (directly or indirectly) रूप से प्रभावित हो सकते हैं.

यही एक कारण है कि संस्था के कार्मिक समुचित शिक्षा, प्रशिक्षण, कौशल व अनुभव के आधार पर सक्षम होने चाहिए, ताकि संस्था द्वारा निर्मित उत्पादों की गुणवत्ता बनी रहे.



सक्षमता, प्रशिक्षण और जागरूकता (Competence, training and awareness)

मानक के पैरा ६.२.२ में वर्णित अपेक्षाओं का उद्देश्य संस्था में कार्मिकों को समुचित सक्षमता, प्रशिक्षण और जागरूकता प्रदान करना है. मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार -

- संस्था उत्पाद अपेक्षाओं से अनुरूपता को प्रभावित किये जाने वाले कार्य करने वाले कार्मिक के लिए आवश्यक सक्षमता (competence) निर्धारित करे,
- संस्था आवश्यक सक्षमता प्राप्त करने के लिए, जहाँ जहाँ लागू हो, प्रशिक्षण प्रदान करे या अन्य कार्रवाई करे,
- संस्था यह सुनिश्चित करे कि संस्था के कार्मिक अपनी गतिविधिओं की प्रासंगिकता (सार्थकता) और महत्त्व के बारे में जानते हैं और वे किस प्रकार गुणवत्ता लक्ष्यों को प्राप्त करने में सहयोग कर सकते हैं, तथा
- संस्था शिक्षा, प्रशिक्षण, कौशल और अनुभव के समुचित अभिलेख (रिकॉर्ड) रखे.



इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Monday, October 10, 2011

संसाधन की व्यवस्था अपेक्षाएं

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में संसाधन की व्यवस्था अपेक्षाओं का उद्देश्य क्या है, ये किस पैरा में वर्णित हैं और अपेक्षाएं क्या हैं?

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए संसाधन की व्यवस्था अपेक्षाएं मानक के पैरा ६.१ में वर्णित हैं, तथा अपेक्षाओं का उद्देश्य संस्था में पर्याप्त संसाधनों की उपलब्धता की व्यवस्था कराना है. मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली को कार्यान्वित और संपोषित करने और लगातार इसके प्रभावीकरण में उन्नति के लिए तथा ग्राहक अपेक्षाओं को पूरा करते हुए ग्राहक संतुष्टि में उन्नयन के लिए संस्था आवश्यक (पर्याप्त) संसाधनों को निर्धारित और उपलब्ध करे.



यहाँ यह महत्वपूर्ण है कि संसाधन प्रबधन के लिए संस्था में उचित और पर्याप्त मानव संसाधन, संरचना और कार्य वातावरण होना चाहिए, जिसकी अपेक्षाएं मानक के निम्न पैरा में वर्णित हैं:
- पैरा ६.२ - मानव संसाधन (Human resources)
- पैरा ६.३ - संरचना (Infrastructure)
- पैरा ६.४ - कार्य वातावरण (Work environment)

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में संसाधन प्रबंधन अपेक्षाएं

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में संसाधन प्रबंधन अपेक्षाएं मानक के किस पैरा में वर्णित हैं और किनसे सम्बंधित हैं?




अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए संसाधन प्रबंधन अपेक्षाएं मानक के पैरा ६ में वर्णित हैं, जो निम्न से सम्बंधित हैं:

- पैरा ६.१ - संसाधन की व्यवस्था (Provision of resources)
- पैरा ६.२ - मानव संसाधन (Human resources)
- पैरा ६.३ - संरचना (Infrastructure)
- पैरा ६.४ - कार्य वातावरण (Work environment)

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....


कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Wednesday, October 5, 2011

प्रबंधन पुनरीक्षण Management review

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में प्रबंधन पुनरीक्षण अपेक्षाएं मानक के किस पैरा में वर्णित हैं तथा प्रबंधन पुनरीक्षण से सम्बंधित अपेक्षाएं क्या हैं?




अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ५.६ में प्रबंधन पुनरीक्षण अपेक्षाएं वर्णित हैं, जिसके तीन उपखंड निम्न हैं:
- पैरा ५.६.१ - सामान्य (General)
- पैरा ५.६.२ - पुनरीक्षण निवेश (Review input)
- पैरा ५.६.३ - पुनरीक्षण निर्गत (Review output)




अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में पैरा ५.६.१ में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार सर्वोच्च प्रबंधन (top management) नियोजित अंतरालों (planned intervals) पर संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली का पुनरीक्षण निरंतर उपयुक्तता, पर्याप्तता और प्रभावीकरण को सुनिश्चित करने के लिए करे. इस प्रबंधन पुनरीक्षण में गुणवत्ता नीति और गुणवत्ता लक्ष्यों को शामिल करते हुए सुधार के लिए अवसरों का मूल्यांकन तथा गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के प्रति परिवर्तनों की आवश्यकता शामिल हो. मानक की अपेक्षाओं में यह भी वर्णित है कि प्रबंधन पुनरीक्षण के अभिलेख (records) रखे जाएँ.




मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार प्रबंधन पुनरीक्षण निवेश में निम्न से सम्बंधित जानकारी शामिल होनी चाहिए:
- संपरीक्षण (audit) के परिणाम,
- ग्राहक पुनर्निवेशन (customer feedback),
- प्रक्रिया निष्पादन (process performance),
- उत्पाद अनुरूपता (product conformity),
- निवारक कार्रवाई (preventive action) की स्थिति,
- सुधार कार्रवाई (corrective action) की स्थिति,
- पूर्व प्रबंधन पुनरीक्षणों से अनुवर्ती कार्रवाई,
- गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली को प्रभावित करने वाले परिवर्तन, तथा
- सुधार के लिए अनुशंसाएं.

मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार प्रबंधन पुनरीक्षण निर्गत में निम्न से सम्बंधित कोई निर्णय और कार्रवाई शामिल होनी चाहिए:
- गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली और इसकी प्रक्रियाओं के प्रभावीकरण का सुधार,
- ग्राहक अपेक्षाओं से सम्बंधित उत्पाद का सुधार, तथा
- संसाधन जरूरतें

कृपया अंग्रेजी में प्रबंधन उत्तरदायित्व से सम्बंधित लेख के लिए लिंक http://iso9001-2008awareness.blogspot.com/2008/12/understanding-iso-90012008-quality_16.html देखे.

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सफलता सर्वोच्च प्रबंधन की प्रतिबद्धता पर ही निर्भर है. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन में सर्वोच्च प्रबंधन की महत्वपूर्ण और प्रासंगिक भूमिका है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Tuesday, October 4, 2011

आतंरिक सम्प्रेषण (Internal communication)

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन के लिए सर्वोच्च प्रबंधन को आतंरिक सम्प्रेषण के लिए क्या सुनिश्चित करना चाहिए और इसको प्रभावी बनाने के लिए किन माध्यमों का उपयोग किया जा सकता है?



अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन के लिए मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार आंतरिक सम्प्रेषण के लिए सर्वोच्च प्रबंधन को निम्न सुनिश्चित करना चाहिए:
- संस्था के भीतर उपयुक्त सम्प्रेषण प्रक्रियाएं संस्थापित की गई हैं, तथा
- गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के प्रभावीकरण के विषय में सम्प्रेषण किया जाता है.



संस्था में आतंरिक सम्प्रेषण को प्रभावी बनाने के लिए निम्न का उपयोग किया जा सकता है:
- परिपत्र (circular)
- पत्र (letter)
- बैठक (meeting)
- बुलेटिन (bulletin)
- दूरभाष बातचीत (telephonic conversation)
- ईमेल (email) इत्यादि



कृपया अंग्रेजी में प्रबंधन उत्तरदायित्व से सम्बंधित लेख के लिए लिंक http://iso9001-2008awareness.blogspot.com/2008/12/understanding-iso-90012008-quality_16.html देखे.

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सफलता सर्वोच्च प्रबंधन की प्रतिबद्धता पर ही निर्भर है. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन में सर्वोच्च प्रबंधन की महत्वपूर्ण और प्रासंगिक भूमिका है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Monday, October 3, 2011

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के प्रभावी कार्यान्वयन में प्रबंधन प्रतिनिधि (Management representative) की भूमिका क्यों महत्वपूर्ण ...

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के प्रभावी कार्यान्वयन में प्रबंधन प्रतिनिधि (Management representative) की भूमिका क्यों महत्वपूर्ण है? प्रबंधन प्रतिनिधि (Management representative) किसे बनाया जाना चाहियें?





अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के प्रभावी कार्यान्वयन और सकारात्मक परिणामों को प्राप्त करने में प्रबंधन प्रतिनिधि की भूमिका इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि प्रबंधन प्रतिनिधि वह व्यक्ति है जो:
- संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन हेतु संस्था के लोगों (कर्मचारियों) को लगातार प्रोत्साहित करता है,
- संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन हेतु संस्था के लोगों (कर्मचारियों) का अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ की अपेक्षाओं की जागरूकता के लिए मार्गदर्शन प्रदान करता है, और
- संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए प्रबंधन पुनरीक्षण (management review) और आंतरिक संपरीक्षण (internal audit) समय पर आयोजित करवाने के लिए आवश्यक कदम उठाता है.




प्रबंधन प्रतिनिधि संस्था प्रबंधन के किसी ऐसे सदस्य को बनाया जाना चाहिए जो गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के प्रति सकारात्मक सोच रखता हो तथा जिसे अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ की अपेक्षाओं के साथ आईएसओ ९०००:२००५ और आईएसओ १९०११:२००२ में सम्मिलित विषयों की अच्छी जानकारी हो, ताकि वह कर्मचारियों को उचित मार्गदर्शन दे सके और उन्हें प्रोत्साहित कर सके.

कृपया अंग्रेजी में प्रबंधन उत्तरदायित्व से सम्बंधित लेख के लिए लिंक http://iso9001-2008awareness.blogspot.com/2008/12/understanding-iso-90012008-quality_16.html देखे.

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सफलता सर्वोच्च प्रबंधन की प्रतिबद्धता पर ही निर्भर है. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन में सर्वोच्च प्रबंधन की महत्वपूर्ण और प्रासंगिक भूमिका है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Friday, September 30, 2011

प्रबंधन प्रतिनिधि (Management representative)

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के अंतर्गत सर्वोच्च प्रबंधन द्वारा किसे प्रबंधन प्रतिनिधि (Management representative) नियुक्त करना चाहिए और उसके पास कौन से उत्तरदायित्व और प्राधिकार (Responsibility and authority) होने चाहियें?



अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ में वर्णित अपेक्षाओं के अंतर्गत सर्वोच्च प्रबंधन को संस्था के प्रबंधन के किसी एक सदस्य को प्रबंधन प्रतिनिधि नियुक्त करना चाहिए. यहाँ यह स्पष्ट करना जरुरी है कि बाहरी (अर्थात संस्था के बाहर का कोई) व्यक्ति प्रबंधन प्रतिनिधि नहीं बन सकता है. प्रबंधन प्रतिनिधि को निम्न उत्तरदायित्व और प्राधिकार दिए जाने चाहिए:
- प्रबंधन प्रतिनिधि यह सुनिश्चित करे कि गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए आवश्यक प्रक्रियाएं संस्थापित और संपोषित की जाएँ,
- गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के अनुपालन और लगातार सुधार के लिए किसी आवश्यकता (जरुरत) के बारे में प्रबंधन प्रतिनिधि सर्वोच्च पबंधन को सूचित करे, तथा
- संस्था के भीतर ग्राहक अपेक्षाओं के बारे में जागरूकता बढ़ाना प्रबंधन प्रतिनिधि सुनिश्चित करे.



मानक में यह भी स्पष्ट है कि प्रबंधन प्रतिनिधि के उत्तरदायित्व में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली से सम्बंधित मामलों में बाहरी पक्षों (external parties) के साथ संपर्क करना शामिल हो सकता है.

इन अपेक्षाओं की पालना के लिए संस्था का सर्वोच्च प्रबंधन उत्तरदायी है.

कृपया अंग्रेजी में प्रबंधन उत्तरदायित्व से सम्बंधित लेख के लिए लिंक http://iso9001-2008awareness.blogspot.com/2008/12/understanding-iso-90012008-quality_16.html देखे.

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सफलता सर्वोच्च प्रबंधन की प्रतिबद्धता पर ही निर्भर है. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन में सर्वोच्च प्रबंधन की महत्वपूर्ण और प्रासंगिक भूमिका है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Thursday, September 29, 2011

उत्तरदायित्व और प्राधिकार (Responsibility and authority)

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के अंतर्गत गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए सर्वोच्च प्रबंधन को उत्तरदायित्व और प्राधिकार (Responsibility and authority) के लिए क्या सुनिश्चित करना जरुरी है?


------------------------------------ उत्तरदायित्व -------------------------------


अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ में वर्णित अपेक्षाओं के अंतर्गत सर्वोच्च प्रबंधन को निम्न सुनिश्चित करना जरुरी है:
- उत्तरदायित्वों और प्राधिकारों को परिभाषित करना, तथा
- उत्तरदायित्व और प्राधिकारों को संस्था में संप्रेषित करना.

उत्तरदायित्वों और प्राधिकारों को परिभाषित करने और संस्था में इसे संप्रेषित करने का यह लाभ होता है कि सभी कर्मचारियों को उनके उत्तरदायित्व और प्राधिकार स्पष्ट समझ में आ जाते हैं और इस सम्बन्ध में संस्था में कोई भ्रान्ति (confusion) नहीं रहता है. इससे सभी को अपना-अपना कार्य करने में आसानी हो जाती है.

इन अपेक्षाओं की पालना के लिए संस्था का सर्वोच्च प्रबंधन उत्तरदायी है.

कृपया अंग्रेजी में प्रबंधन उत्तरदायित्व से सम्बंधित लेख के लिए लिंक http://iso9001-2008awareness.blogspot.com/2008/12/understanding-iso-90012008-quality_16.html देखे.

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सफलता सर्वोच्च प्रबंधन की प्रतिबद्धता पर ही निर्भर है. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन में सर्वोच्च प्रबंधन की महत्वपूर्ण और प्रासंगिक भूमिका है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

उत्तरदायित्व, प्राधिकार और सम्प्रेषण (responsibility, authority and communication) अपेक्षाएं

संक्षेप में बताएं कि अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में उत्तरदायित्व, प्राधिकार और सम्प्रेषण (responsibility, authority and communication) अपेक्षाएं किस पैरा में वर्णित हैं और किन से सम्बंधित हैं? इन अपेक्षाओं की पालना के लिए कौन उत्तरदायी है?




उत्तरदायित्व, प्राधिकार और सम्प्रेषण अपेक्षाएं अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ के पैरा ५.५ में वर्णित हैं, जो निम्न से सम्बंधित हैं:
- पैरा ५.५.१ - उत्तरदायित्व और प्राधिकार (Responsibility and ऑथोरिटी)
- पैरा ५.५.२ - प्रबंधन प्रतिनिधि (Management representative)
- पैरा ५.५.३ - आंतरिक सम्प्रेषण (internal communication)

इन अपेक्षाओं की पालना के लिए संस्था का सर्वोच्च प्रबंधन उत्तरदायी है.

कृपया अंग्रेजी में प्रबंधन उत्तरदायित्व से सम्बंधित लेख के लिए लिंक http://iso9001-2008awareness.blogspot.com/2008/12/understanding-iso-90012008-quality_16.html देखे.

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सफलता सर्वोच्च प्रबंधन की प्रतिबद्धता पर ही निर्भर है. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन में सर्वोच्च प्रबंधन की महत्वपूर्ण और प्रासंगिक भूमिका है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Monday, September 26, 2011

आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में आयोजना (Planning) अपेक्षाएं

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में आयोजना (planning) अपेक्षाएं क्या हैं और इन अपेक्षाओं की पालना के लिए कौन उत्तरदायी है?




आयोजना अपेक्षाएं अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के पैरा ५.४ में वर्णित हैं, जो निम्न से सम्बंधित हैं:
- पैरा ५.४.१ - गुणवत्ता लक्ष्य (quality objectives)
- पैरा ५.४.२ - गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली आयोजना (quality management system planning)

इन अपेक्षाओं की पालना के लिए संस्था का सर्वोच्च प्रबंधन उत्तरदायी है. मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार सर्वोच्च प्रबंधन को गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली आयोजना के लिए निम्न सुनिश्चित करना जरुरी है :
- मानक के पैरा ४.१ (सामान्य) में वर्णित सामान्य अपेक्षाओं के साथ गुणवत्ता लक्ष्यों को पूरा करने के क्रम में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की आयोजना (planning) की जाए, तथा
- जब गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में परिवर्तन आयोजित और क्रियान्वित किये जाते हैं तब गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सत्यनिष्ठा (integrity) बनाए रखी जाए.

कृपया अंग्रेजी में प्रबंधन उत्तरदायित्व से सम्बंधित लेख के लिए लिंक http://iso9001-2008awareness.blogspot.com/2008/12/understanding-iso-90012008-quality_16.html देखे.

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सफलता सर्वोच्च प्रबंधन की प्रतिबद्धता पर ही निर्भर है. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन में सर्वोच्च प्रबंधन की महत्वपूर्ण और प्रासंगिक भूमिका है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Thursday, September 22, 2011

गुणवत्ता नीति (quality policy)



अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में गुणवत्ता नीति (quality policy) अपेक्षाएं क्या हैं और इन अपेक्षाओं की पालना के लिए कौन उत्तरदायी है?

गुणवत्ता नीति से सम्बंधित अपेक्षाएं अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ५.३ में वर्णित हैं. इन अपेक्षाओं की पालना के लिए सर्वोच्च प्रबंधन (top management) उत्तरदायी है. मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार सर्वोच्च प्रबंधन (top management) के लिए यह आवश्यक है कि वह निम्न बातें सुनिश्चित करे:
- संस्था के प्रयोजन के लिए गुणवत्ता नीति उपयुक्त है,
- गुणवत्ता नीति में अपेक्षाओं के अनुपालन की प्रतिबद्धता शामिल है,
- गुणवत्ता नीति में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के प्रभावीकरण में निरंतर सुधार शामिल है,
- गुणवत्ता नीति गुणवत्ता लक्ष्यों को संस्थापित करने और पुनरीक्षण करने के लिए ढांचा प्रदान करती है,
- गुणवत्ता नीति संस्था में संप्रेषित कर दी गयी है,
- गुणवत्ता नीति संस्था में समझ ली गयी है, अर्थात संस्था के लोगो ने गुणवत्ता नीति को भली प्रकार समझ लिया है,
- गुणवत्ता नीति की निरंतर उपयुक्तता (continuing suitability) के लिए पुनरीक्षण (review) किया जाता है.

कृपया अंग्रेजी में प्रबंधन उत्तरदायित्व से सम्बंधित लेख के लिए लिंक http://iso9001-2008awareness.blogspot.com/2008/12/understanding-iso-90012008-quality_16.html देखे.

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सफलता सर्वोच्च प्रबंधन की प्रतिबद्धता पर ही निर्भर है. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन में सर्वोच्च प्रबंधन की महत्वपूर्ण और प्रासंगिक भूमिका है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Wednesday, September 21, 2011

ग्राहक केन्द्रीकरण (customer focus)



अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में ग्राहक केन्द्रीकरण (customer focus) अपेक्षाएं क्या हैं और इन अपेक्षाओं की पालना के लिए कौन उत्तरदायी है?

ग्राहक केन्द्रीकरण से सम्बंधित अपेक्षाएं अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ५.२ में वर्णित हैं. इन अपेक्षाओं की पालना के लिए सर्वोच्च प्रबंधन (top management) उत्तरदायी है. मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार सर्वोच्च प्रबंधन (top management) के लिए यह आवश्यक है कि वह यह सुनिश्चित करे कि ग्राहक अपेक्षाओं का निर्धारण सुनिश्चित कर लिया गया है, और ग्राहक संतुष्टि बढ़ाने के उद्देश्य से ग्राहक अपेक्षाओं को पूरा कर लिया गया है.

मानक में मानक के पैरा ७.२.१ (उत्पाद से सम्बंधित अपेक्षाओं का निर्धारण) पैरा ८.२.१ (ग्राहक संतुष्टि) को देखने का सन्दर्भ भी वर्णित है.

कृपया अंग्रेजी में प्रबंधन उत्तरदायित्व से सम्बंधित लेख के लिए लिंक http://iso9001-2008awareness.blogspot.com/2008/12/understanding-iso-90012008-quality_16.html देखे.

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सफलता सर्वोच्च प्रबंधन की प्रतिबद्धता पर ही निर्भर है. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन में सर्वोच्च प्रबंधन की महत्वपूर्ण और प्रासंगिक भूमिका है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Monday, September 19, 2011

प्रबंधन प्रतिबद्धता



अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में प्रबंधन प्रतिबद्धता अपेक्षाएं क्या हैं और इन अपेक्षाओं की पालना के लिए कौन उत्तरदायी है?

प्रबंधन प्रतिबद्धता से सम्बंधित अपेक्षाएं अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ५.१ में वर्णित हैं. इन अपेक्षाओं की पालना के लिए सर्वोच्च प्रबंधन (top management) उत्तरदायी है. मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार सर्वोच्च प्रबंधन (top management) गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के विकास और कार्यान्वयन के प्रति अपनी प्रतिबद्धता का साक्ष्य दे और गुणवत्ता प्रबंध के प्रभावीकरणके निरंतर सुधार के लिए निम्न को पूरा करे:
- वैधानिक और नियामक (statutory and regulatory) अपेक्षाओं के साथ ग्राहक अपेक्षाओं को पूरा करने का महत्त्व संस्था में संप्रेषित करें अर्थात इस बारे में संस्था के कर्मचारियों को जानकारी दें, ताकि उनकी सम्बंधित विषय पर जागरूकता बढ़े.
- गुणवत्ता नीति (quality policy) संस्थापित करे.
- यह सुनिश्चित करे कि गुणवत्ता लक्ष्यों (quality objectives) को संस्थापित कर लिया गया है.
- प्रबंधन पुनरीक्षण (management review) करे.
- संसाधनों की उपलब्धता (availability of resources) सुनिश्चित करें.

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सफलता सर्वोच्च प्रबंधन की प्रतिबद्धता पर ही निर्भर है. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के कार्यान्वयन में सर्वोच्च प्रबंधन की महत्वपूर्ण और प्रासंगिक भूमिका है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

प्रबंधन उत्तरदायित्व



संक्षेप में बताये कि अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के अंतर्गत गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए 'प्रबंधन उत्तरदायित्व' अपेक्षाएं मानक के किस पैरा में वर्णित हैं तथा किन से सम्बंधित हैं?

'प्रबंधन उत्तरदायित्व' अपेक्षाएं अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ५ में वर्णित हैं, जो निम्न से सम्बंधित हैं:
- पैरा ५.१ - प्रबंधन प्रतिबद्धता (Management commitment)
- पैरा ५.२ - ग्राहक केन्द्रीकरण (Customer focus)
- पैरा ५.३ - गुणवत्ता नीति (Quality policy)
- पैरा ५.४ - आयोजना (Planning)
- पैरा ५.४.१ - गुणवत्ता लक्ष्य (Quality objectives )
- पैरा ५.४.२ - गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली आयोजना (Quality management system planning)
- पैरा ५.५ - उत्तरदायित्व, प्राधिकार और सम्प्रेषण (Responsibility, authority and communication)
- पैरा ५.५.१ - उत्तरदायित्व और प्राधिकार (Responsibility and authority)
- पैरा ५.५.२ - प्रबंधन प्रतिनिधि (Management representative)
- पैरा ५.५.३ - आंतरिक सम्प्रेषण (Internal communication)
- पैरा ५.६ - प्रबंधन पुनरीक्षण (Management review)
- पैरा ५.६.१ - सामान्य (General)
- पैरा ५.६.२ - पुनरीक्षण निवेश (Review input)
- पैरा ५.६.३ - पुनरीक्षण निर्गत (Review output)

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Saturday, September 3, 2011

दस्तावेजों पर आवश्यक नियंत्रण




अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के अनुसार दस्तावेजों के नियंत्रण से सम्बन्धित अपेक्षाएं क्या हैं?

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ४.२.३ के अनुसार गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली द्वारा चाहे गए दस्तावेजों का नियंत्रण जरुरी है तथा दस्तावेजों पर आवश्यक नियंत्रण परिभाषित करने के लिए एक प्रलेखित कार्यविधि संस्थापित किया जाना आवश्यक है. अभिलेख एक विशेष प्रकार के दस्तावेज होते हैं और अभिलेखों का नियंत्रण मानक के पैरा ४.२.४ में वर्णित अपेक्षाओं के अनुरूप किया जाना चाहिए.

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार दस्तावेजों पर आवश्यक नियंत्रण परिभाषित करने के लिए प्रलेखित कार्यविधि संस्थापित की जायेगी जिसमें निम्न बातों पर नियंत्रण परिभाषित किया जाएगा -
- जारी करने से पूर्व उपयुक्तता हेतु दस्तावेजों का अनुमोदन,
- दस्तावेजों का पुनरीक्षण और जैसा आवश्यक हो अद्यतन करने और पुन: अनुमादन के लिए,
- यह सुनिश्चित करने के लिए कि दस्तावेजों के परिवर्तन और वर्त्तमान संशोधित स्थिति तय कर ली गयी है,
- यह सुनिश्चित करने के लिए कि लागू दस्तावेजों के पाठ उपयोग स्थल पर उपलब्ध हैं,
- यह सुनिश्चित करने के लिए कि दस्तावेज सुपाठ्य और सहज ही पहचानने योग्य हैं,
- यह सुनिश्चित करने के लिए कि गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की आयोजना और संचालन के लिए संस्था द्वारा ज्ञात किये गए बाहरी मूल (external origin) के दस्तावेजों की पहचान कर ली गयी है और उन्हें नियंत्रित किया गया है,
- अप्रचलित (obsolete) दस्तावेजों का अज्ञानवश उपयोग रोकने के लिए, और यदि वे किसी प्रयोजन के लिए रखे गए होंतो उपयुक्त पहचान लागू करने के लिए.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Wednesday, August 31, 2011

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन में चाहे गए अभिलेख (records)



आईएसओ ९००१:२००८ अंतर्राष्ट्रीय मानक के अनुसार गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन में चाहे गए अभिलेख (records) कौन-कौन से हैं?

आईएसओ ९००१:२००८ अंतर्राष्ट्रीय मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन में चाहे गए अभिलेख (records) निम्न से सम्बंधित हैं -

- प्रबंधन पुनरीक्षण - पैरा ५.६

- शिक्षा, प्रशिक्षण, कौशल और अनुभव के समुचित अभिलेख - पैरा ६.२.२

- यह साक्ष्य देने के लिए कि उपलब्धि प्रक्रियाएं और परिणामित उत्पाद (realization processes and resulting product) अपेक्षाओं को पूरा करते हैं - पैरा ७.१

- पुनरीक्षण के परिणामों और पुनरीक्षण से उत्पन्न होने वाली कार्यविधिओं के अभिलेख - पैरा ७.२.२

- परिरूप और विकास निवेश - पैरा ७.३.२

- परिरूप और विकास पुनरीक्षण - पैरा ७.३.४

- परिरूप और विकास सत्यापन - पैरा ७.३.५

- परिरूप और विकास वैधीकरण - पैरा ७.३.६

- परिरूप और विकास परिवर्तनों पर नियंत्रण - पैरा ७.३.७

- खरीद प्रक्रिया - पैरा ७.४.१

- उत्पादन और सेवा व्यवस्था के लिए प्रक्रियाओं का वैधीकरण - पैरा ७.५.२

- पहचान और खोजनीयता - पैरा ७.५.३

- ग्राहक सम्पति - पैरा ७.५.४

- निगरानी (मानिटरिंग) और मापन उपकरण का नियंत्रण - पैरा ७.६

- आतंरिक संपरीक्षण - पैरा ८.२.२

- उत्पाद की निगरानी (मानिटरिंग) और मापन - पैरा ८.२.४

- प्रतिकूल उत्पाद पर नियंत्रण - पैरा ८.३

- दुरुस्ती कार्रवाई - पैरा ८.५.२

- निवारक कार्रवाई - पैरा ८.५.३



उपर्युक्त अभिलेखों के अलावा ऐसे अभिलेख भी संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली में होने चाहिए जो प्रक्रियाओं की प्रभावी आयोजना, संचालन, निरीक्षण के लिए जो संस्था निर्धारित करे.


इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....
कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.


Tuesday, August 30, 2011

गुणवत्ता नियमावली



आईएसओ ९००१:२००८ अंतर्राष्ट्रीय मानक के अनुसार गुणवत्ता नियमावली में क्या शामिल किया जाना चाहिए?

आईएसओ ९००१:२००८ अंतर्राष्ट्रीय मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार संस्था को एक गुणवत्ता नियमावली संस्थापित और संपोषित करना जरुरी है. गुणवत्ता नियमावली में निम्न शामिल किये जाने चाहिए -
- किसी वर्जन (अर्थात छूट, exclusion) के विवरण
- वर्जन/वर्जनों के औचित्य के विवरण
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली का कार्यक्षेत्र
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए संस्थापित प्रलेखित कार्यविधियाँ (documented procedures) अथवा उनका सन्दर्भ
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की प्रक्रियाओं के बीच परस्पर प्रभाव (अन्तर्सम्बन्ध) का विवरण

आईएसओ ९००१:२००८ अंतर्राष्ट्रीय मानक का संदर्भित पैरा - ४.२.२


इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. आप भी अपना ईमेल अंकित कर इस ब्लॉग का पीछा कर सकते हैं.

आप अपनी संस्था में आईएसओ ९००१ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली (ISO 9001 Quality Management System Awareness) , इसके कार्यान्वयन, प्रलेखन, आतंरिक संपरीक्षण आदि प्रशिक्षण या कन्सल्टेन्सी सलाह (consultancy guidance ) के लिए ईमेल द्वारा krsinghal@rediffmail.com या keshavsinghalajmer@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद.

Monday, August 29, 2011

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन - रूप और माध्यम



गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन किस रूप और माध्यम में हो सकते हैं?

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन किसी भी रूप और माध्यम के प्रकार में हो सकते हैं. इसका अर्थ यह है कि :
- प्रलेखन किसी भी भाषा में लिखे जा सकते हैं,
- प्रलेखन किसी भी रूप में (अर्थात इलैक्ट्रोनिक या कागज़ पर लिखें) हो सकते हैं.

कृपया इस सम्बन्ध में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक आईएसओ ९००१:२००८ के पैरा ४.२.१ के अंत में दी गई टिप्पणी संख्या ३ देखें.
इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. धन्यवाद.

Sunday, August 28, 2011

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा


गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा


क्या किसी संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा अर्थात विस्तार (मात्रा) दूसरी संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा अर्थात विस्तार (मात्रा) से भिन्न हो सकता है और क्यों?


एक संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा अर्थात विस्तार (मात्रा) दूसरी संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा अर्थात विस्तार (मात्रा) से भिन्न हो सकता है, जिसके निम्न (एक या अधिक) कारण हो सकते हैं :-

- संस्था का आकार,

- संस्था के क्रियाकलापों का प्रकार,

- संस्था की प्रक्रियाओं की जटिलता और उनके बीच अन्तर्सम्बन्ध,

- संस्था के कार्मिकों की सक्षमता


इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.


आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. धन्यवाद .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. धन्यवाद.


Friday, August 26, 2011

प्रलेखित कार्यविधि अपेक्षा (अपेक्षाएं) और दस्तावेज



इस विषय में दो प्रश्न महत्वपूर्ण हैं, जिनके बारे में जानना जरुरी है.
पहला, क्या एकल दस्तावेज (document) में आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक अपेक्षाओं के लिए एक या अधिक कार्यविधियाँ (procedures) संबोधित की जा सकती हैं?
दूसरा, क्या एक प्रलेखित कार्यविधि के लिए किसी एक अपेक्षा को एक से अधिक दस्तावेजों (documents) में शामिल किया जा सकता है?

आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ४.२.१ के अंत में वर्णित पहली टिप्पणी में इन दोनों प्रश्नों का उत्तर स्पष्ट है.

दोनों प्रश्नों के उत्तर सकारात्मक हैं. एकल दस्तावेज में आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक अपेक्षाओं के लिए एक या अधिक कार्यविधियाँ संबोधित की जा सकती हैं. एक प्रलेखित कार्यविधि के लिए किसी एक अपेक्षा को एक से अधिक दस्तावेजों (documents) में शामिल किया जा सकता है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.


आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. धन्यवाद ....

Wednesday, August 24, 2011

एक अपील



आदरणीय बन्धु,

सादर अभिवादन!

मैंने यह ब्लॉग 'आईएसओ 9001 : 2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से प्रारम्भ किया. जागरूकता पैदा करने के लिए यह एक शुरुआत है. 'आईएसओ 9001 : 2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर बहुत सामग्री (अर्थात लेख और प्रकाशन) अंग्रेजी भाषा में बहुतायत से उपलब्ध हैं, पर अपनों के बीच अपनी भाषा में बात करने से जागरूकता पैदा करने और जागरूकता बढ़ाने का काम तेजी से किया जा सकता है.

मैं आपसे निवेदन करता हूँ कि आप इस ब्लॉग के जानकारी अपने मित्रों, अधिक से अधिक साथियों व संस्थाओं को दें, ताकि 'आईएसओ 9001 : 2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढ़ाने के मेरे इस प्रयास को अधिक गति और मुझे उत्साह मिल सके. आप अपने 'फेसबुक'(Facebook), ब्लॉग (Blog), 'लिंक्डइन'(Linkedin) आदि द्वारा इस ब्लॉग की जानकारी लोगों के बीच साझा कर सकते हैं.

मैं 'आईएसओ 9001 : 2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' और 'अन्य प्रबंध प्रणाली' के सलाहकारों (consultants) और संपरीक्षकों (auditors), प्रमाणीकरण संस्थाओं (certification bodies) के अधिकारियों और विभिन्न संस्थाओं में कार्यरत गुणवत्ता प्रबंधन से जुड़े कार्मिकों से अपील करता हूँ कि वे मेरे इस अभियान में अपना सहयोग और मार्गदर्शन दें. आप इस ब्लॉग पर यदि किसी लघु-लेख को पढ़ते हैं, तो कृपया अपनी टिप्पणी अवश्य लिखें.

'आईएसओ 9001 : 2008 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बन्धित कोई भी प्रश्न और विचार आप मुझे पत्र द्वारा भेज सकते हैं.

अभिवादन सहित,

केशव राम सिंघल
११७, जीवन विहार कॉलोनी,
आनासागर सर्कुलर रोड, अजमेर - ३०४००५, राजस्थान, भारत.
ईमेल - krsinghal@rediffmail.com
keshavsinghalajmer@gmail.com

प्रलेखित कार्यविधि



अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के अनुसार 'प्रलेखित कार्यविधि' का अर्थ क्या है?

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के अनुसार 'प्रलेखित कार्यविधि' का अर्थ है कि कार्यविधि संस्थापित, प्रलेखित, कार्यान्वित और संपोषित की गयी है.

जहाँ भी 'प्रलेखित कार्यविधि' (documented procedure) पद अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में दिखता है, इसका अर्थ है कि -
- कार्यविधि (procedure) संस्थापित है,
- कार्यविधि (procedure) प्रलेखित है अर्थात कार्यविधि लिखित-रूप में है ,
- कार्यविधि (procedure) कार्यान्वित है अर्थात कार्यविधि की अनुपालना होती है, और
- कार्यविधि (procedure) संपोषित है अर्थात कार्यविधि बनाए रखी गयी है.


इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. धन्यवाद ....

किसी अपेक्षा के लिए छूट



क्या अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ४.१ में वर्णित किसी अपेक्षा के लिए छूट प्रदान की जा सकती है?

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ४.१ में वर्णित किसी अपेक्षा के लिए कोई छूट प्रदान नहीं की जा सकती है.

यहाँ यह उल्लेखनीय है कि अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक की कोई अपेक्षा/अपेक्षाएं संस्था की प्रकृति के कारण लागू न की जा सकें तो वहाँ ऐसी अपेक्षा/अपेक्षाओं के वर्जन (छोड़ने) के लिए विचार किया जा सकता है. जहाँ अपेक्षाओं का वर्जन किया जाता है, वहाँ मानक की प्रति अनुरूपता का दावा तभी तक स्वीकार्य है जब यह वर्जन (छूट) मानक के पैरा ७ की अपेक्षाओं के अंतर्गत ही हो. इसका अर्थ यह है कि मानक में वर्णित केवल पैरा ७ के अंतर्गत दी गई अपेक्षाओं के लिए छूट प्रदान की जा सकती है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. धन्यवाद ....

Tuesday, August 23, 2011

प्रलेखित कार्यविधियों के अतिरिक्त अन्य कोई कार्यविधि या दस्तावेज


अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के अनुसार क्या गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन में चाही गई छ: प्रलेखित कार्यविधियों के अतिरिक्त अन्य कोई कार्यविधि या दस्तावेज हो सकते हैं?

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में चाही गई प्रलेखित छ: कार्यविधियों के अलावा ऐसी अन्य प्रलेखित कार्यविधियाँ भी हो सकती हैं जो प्रक्रियाओं की प्रभावी आयोजना, संचालन और नियंत्रण के लिए संस्था द्वारा निर्धारित की जाए.


इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. धन्यवाद ....


गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में चाही गई प्रलेखित कार्यविधियाँ


अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में चाही गई प्रलेखित कार्यविधियाँ (documented procedures) कौन सी हैं?

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में छ: चाही गई प्रलेखित कार्यविधियाँ (documented procedures) हैं, जो निम्न हैं :
- दस्तावेजों पर नियंत्रण (Control of documents) - पैरा ४.२.३
- अभिलेखों पर नियंत्रण (Control of records) - पैरा ४.२.४
- आंतरिक संपरीक्षण (Internal audit) - पैरा ८.२.२
- प्रतिकूल उत्पाद पर नियंत्रण (Control of nonconforming product) - पैरा ८.३
- दुरुस्ती कार्रवाई (Corrective action) - पैरा ८.५.२
- निवारक कार्रवाई (Preventive action) - पैरा ८.५.३

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित ' आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.

आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. धन्यवाद ....


गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन (QMS documentation)


अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन (QMS documentation) में क्या शामिल किया जाना जरुरी है?
अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा ४.२.१ में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन (QMS documentation) में निम्न प्रलेखन शामिल किये जाने जरुरी हैं :-
- गुणवत्ता नीति का प्रलेखित वक्तव्य (Quality policy)
- गुणवत्ता लक्ष्यों का प्रलेखित वक्तव्य (Quality objectives)
- गुणवत्ता नियमावली (Quality manual)
- मानक द्वारा चाही गई प्रलेखित छ: कार्यविधियाँ
- मानक द्वारा चाहे गए अभिलेख (records)
- संस्था प्रक्रियाओं की प्रभावी आयोजना, संचालन और नियंत्रण सुनिश्चित करने के लिए संस्था द्वारा तय किये गए आवश्यक दस्तावेज (documents ) और आवश्यक अभिलेख (records)

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित ' आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक में अनुप्रयोग (application) के बारे में क्या प्रावधान हैं?



अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के पैरा १.२ में अनुप्रयोग (application) के बारे में चर्चा की गई है. इसके अनुसार मानक की सभी अपेक्षाएं सामान्य (generic) हैं तथा सभी प्रकार की संस्थाओं पर लागू की जा सकती हैं, चाहे वे किसी भी प्रकार, आकार की हों और कोई भी उत्पाद उपलब्ध कराती हों. जहाँ अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक की कोई अपेक्षा/अपेक्षाएं संस्था की प्रकृति के कारण लागू न की जा सकें तो वहाँ ऐसी अपेक्षा/अपेक्षाओं के वर्जन (छोड़ने) के लिए विचार किया जा सकता है. जहाँ अपेक्षाओं का वर्जन किया जाता है, वहाँ मानक की प्रति अनुरूपता का दावा तभी तक स्वीकार्य है जब यह वर्जन (छूट) मानक के पैरा ७ की अपेक्षाओं के अंतर्गत ही हो. इसका अर्थ यह है कि मानक में वर्णित केवल पैरा ७ के अंतर्गत दी गई अपेक्षाओं के लिए छूट प्रदान की जा सकती है. मानक में यह भी स्पष्ट किया गया है कि यह भी जरुरी है कि छोड़ी गई अपेक्षाएं संस्था की क्षमता या उत्तरदायित्व को प्रभावित करने वाली न हों अर्थात छूट प्रदान की गई अपेक्षाओं के बाद भी संस्था ऐसा उत्पाद प्रदान करे जो ग्राहक और लागू वैधानिक अपेक्षाओं को पूरा करे.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित ' आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

Monday, August 15, 2011

'बाह्य स्रोत प्रक्रिया' पर लगाए जाने वाले नियंत्रण के प्रकार और नियंत्रण के फैलाव (सीमा) पर किन तत्वों का प्रभाव पड़ सकता है ?



आईएसओ ९००१:२००८ मानक के पैरा ४.१ के अंत में अंकित तीसरी टिप्पणी में बताया गया है कि 'बाह्य स्रोत प्रक्रिया' पर लगाए जाने वाले नियंत्रण के प्रकार और नियंत्रण के फैलाव (सीमा) पर अनेक तत्वों का प्रभाव पड़ सकता है, जैसे :

- उत्पाद, जो अपेक्षाएं पूरी करता हो, प्रदान करने की संस्था की क्षमता पर बाह्य स्रोत प्रक्रिया का संभावित प्रभाव,
- प्रक्रिया के नियंत्रण को जिस हद तक साझा किया जाता है,
- आईएसओ ९००१:२००८ मानक के पैरा ७.४ के उपयोग द्वारा आवश्यक नियंत्रण प्राप्त करने की क्षमता. (मानक का पैरा ७.४ 'खरीद' से सम्बंधित है.)

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....


अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ के अनुसार गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सामान्य अपेक्षाएं क्या हैं?



गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली की सामान्य अपेक्षाएं अंतर्राष्ट्रीय मानक आईएसओ ९००१:२००८ के पैरा ४.१ में वर्णित हैं. मानक के इस पैरा के अनुसार संस्था को निम्न सुनिश्चित करना जरुरी है :-
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली को संस्थापित करना,
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली को प्रलेखित करना,
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली को कार्यान्वित करना,
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली को संपोषित करना,
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के प्रभावीकरण का लगातार सुधार करना,
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए आवश्यक क्रियाओं को तय करना,
- संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए सर्वत्र तय की गई प्रक्रियाओं का अनुप्रयोग, तय की गई प्रक्रियाओं के अनुक्रम और अन्योन्यक्रिया को निर्धारित (तय) करना,
- यह सुनिश्चित करने के लिए कि संस्था में प्रक्रियाओं का संचालन और नियंत्रण दोनों प्रभावी हैं, आवश्यक मापदंड और क्रम-विधियाँ तय करना,
- तय की गई प्रक्रियाओं के संचालन और निगरानी (मॉनिटरिंग) को सहारा देने के लिए आवश्यक संसाधनों और सूचना की प्राप्यता सुनिश्चित करना,
- तय की गई प्रक्रियाओं की निगरानी (मॉनिटरिंग) करना, जहाँ उचित हो मापन करना और विश्लेषण करना,
- सुनियोजित परिणामों को प्राप्त करने और तय की गई प्रक्रियाओं में लगातार सुधार के लिए आवश्यक कार्रवाई कार्यान्वित करना.

मानक के इस पैरा में 'अनुप्रयोग' के लिए मानक के पैरा १.२ का सन्दर्भ देखना वर्णित है.

संस्था द्वारा तय की गई प्रक्रियाओं का प्रबंधन आईएसओ ९००१:२००८ मानक में वर्णित अपेक्षाओं के अनुसार किया जाना जरुरी है. जहाँ संस्था किसी प्रक्रिया के लिए बाह्य स्रोत चुनती है, जो अपेक्षाओं के अनुसार उत्पाद अनुरूपता को प्रभावित करती है तो आईएसओ ९००१:२००८ मानक की अपेक्षाओं के अनुसार संस्था को ऐसी प्रक्रियाओं पर नियंत्रण सुनिश्चित करना आवश्यक है. साथ ही संस्था को ऐसी बाह्य स्रोत प्रक्रियाओं पर गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के अंतर्गत लगने वाले नियंत्रण के प्रकार और नियंत्रण के फैलाव (सीमा) को परिभाषित करना आवश्यक है.

आईएसओ ९००१:२००८ मानक के पैरा ४.१ के अंत में तीन टिप्पणियाँ वर्णित हैं.

पहली टिप्पणी में यह स्पष्ट किया गया है कि गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए पैरा ४.१ में वर्णित आवश्यक प्रक्रियाओं में प्रबंधन क्रियाकलाप, संसाधनों की व्यवस्था, उत्पाद उपलब्धि, और मापन, विश्लेषण और सुधार के लिए प्रक्रियाएं शामिल हैं.

दूसरी टिप्पणी में 'बाह्य स्रोत प्रक्रिया' को परिभाषित किया गया है कि 'बाह्य स्रोत प्रक्रिया' वह प्रक्रिया है जो संस्था की गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के लिए संस्था के लिए जरुरी है और जिसे संस्था किसी बाहरी दल द्वारा पूरा करने के लिए चुनती है.

तीसरी टिप्पणी में यह स्पष्ट किया गया है कि बाह्य स्रोत प्रक्रियाओं पर लगाए जाने वाले नियंत्रण सुनिश्चित करने पर संस्था सभी ग्राहक, वैधानिक और नियामक अपेक्षाओं के अनुपालन के उत्तरदायित्व से मुक्त नहीं होती है. इसका अर्थ यह है कि बाह्य स्रोत प्रक्रियाओं पर नियंत्रण के साथ सभी ग्राहक अपेक्षाओं और वैधानिक व नियामक अपेक्षाओं की अनुपालना का उत्तरदायित्व भी संस्था का ही है. इसी टिप्पणी में यह बताया गया है कि 'बाह्य स्रोत प्रक्रिया' पर नियंत्रण के प्रकार और नियंत्रण के फैलाव (सीमा) पर अनेक तत्वों का प्रभाव पड़ सकता है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित ' आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html



हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

Friday, August 5, 2011

संस्था में 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जानकारी' कार्यक्रम क्यों जरुरी है और इसकी अवधि कितनी होनी चाहिए?



'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' के लिए व्यक्तियों की भागीदारी अत्यन्त आवश्यक है अत: संस्था के कर्मचारियों को 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' की जानकारी, प्रणाली के लाभ, क्रियान्वयन में उनकी भूमिका और उत्तरदायित्व आदि की जानकारी के लिए 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जानकारी (प्रबोधन)' कार्यक्रम आयोजित करने चाहिए. इस प्रकार के कार्यक्रम में संस्था के सभी कर्मचारियों को भाग लेना चाहिए. इस तरह के कार्यक्रम की अवधि के सम्बन्ध में संस्था उचित निर्णय ले सकती है. सामान्यत: इस तरह के कार्यक्रम की अवधि चार से छ: घंटों के बीच की हो सकती है.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

Thursday, July 28, 2011

‘Management Systems Awareness’ (प्रबंध प्रणाली बोध) - अंक ९


‘Management Systems Awareness’ (प्रबंध प्रणाली बोध) - अंक ९ एक ऐसा विशिष्ट अंक है जिसे हिन्दी में 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका ' के रूप में प्रकाशित किया गया है.
यह प्रश्नोत्तर संदर्शिका आपके मन में पैदा हुए प्रश्नों / सवालों का जवाब ढूंढने में आपके लिए सहायक रहेगी, ऐसा हमारा विश्वास है.
इस अंक में 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर' १२८ प्रश्नों के उत्तर दिए गए हैं. 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका ' का यह अंक निम्न सहयोग राशि भेजकर मंगाया जा सकता है -
एक अंक - रूपये १०० + डाक व्यय रूपये ५० अतिरिक्त
संस्थाओं के लिए विशेष
कर्मचारियों के बीच बांटने के लिए बीस या अधिक अंक मंगाने पर ४० प्रतिशत की छूट.

Please contact
Keshav Ram Singhal, Centre Coordinator,
National Centre for Quality Management,
Ajmer Centre,
117, Jeevan Vihar Colony,
Anasagar Circular Road, Ajmer - 305004.

Email - ncqmajmer@gmail.com

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग .....

आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली से सम्बंधित जानकारी एकत्रित करने के लिए प्रबंधन प्रतिनिधि को क्या करना चाहिए?



प्रबंधन प्रतिनिधि को चाहिए की वह निम्न मानकों की खरीद कर उन्हें सन्दर्भ के लिए अपने पास रखे :

- आईएसओ ९०००:२००५, गुणवत्ता प्रबंध प्रणालियाँ मूल सिद्धांत (आधारभूत तत्व) और शब्दावली,

- आईएसओ ९००१:२००८, गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली - अपेक्षाएं

- आईएसओ १९०११, प्रबंध प्रणाली संपरीक्षण के लिए मार्गनिर्देश



उपर्युक्त मानक भारतीय मानक ब्यूरो के विक्रय काउंटर से खरीदे जा सकते हैं.

प्रबंधन प्रतिनिधि को आईएसओ ९००० परिवार के बारे में जानकारी एकत्रित करनी चाहिए. इस सम्बन्ध में सम्बंधित मार्गदर्शन साहित्य, पुस्तकें व साफ्टवेयर की खरीद एक महत्वपूर्ण प्रयास हो सकता है. सम्बंधित जानकारी के लिए निम्न वेबसाईट्स और ब्लाग्स देखे जा सकते हैं :

www.iso.org
www.bsi.org.uk/iso-tc176-sc2
www.iqa.org
www.iatca.org
www.asq.org
www.iaf.nu
www.tc176.org
www.qualitydigest.com
www.qcin.org
www.bis.org.in
http://iso9001-2008awareness.blogspot.com
http://iso9001awareness.blogspot.com



अनेक संस्थाओं की पत्रिकाएं भी उपयोगी जानकारी प्रदान करने में सहायक हो सकती हैं, जैसे -
- क्वालिटी काउन्सिल ऑफ इंडिया की पत्रिका ‘qualityindia’
- भारतीय मानक ब्यूरो की मासिक पत्रिका ‘Standards India’
- नेशनल सेंटर फॉर क्वालिटी मेनेजमेंट, मुम्बई की पत्रिका ‘Quality Striving for Excellence’
- नेशनल सेंटर फॉर क्वालिटी मेनेजमेंट, अजमेर की प्रकाशन श्रृंखला 'प्रबंध प्रणाली बोध' ‘Management Systems Awareness’
- क्वालिटी वर्ल्ड (Quality World – a monthly magazine published from New Delhi

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग .....

Wednesday, July 27, 2011

आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली अपनाने के लिए सलाहकार की नियुक्ति क्यों जरुरी मानते हैं और सलाहकार नियुक्ति के लिए क्या ध्यान में रखना चाहिए?


सलाहकार की सेवायें लेना आवश्यक नहीं है, फिर भी संस्था का उच्च प्रबंधन अथवा परिचालन समिति को यह निर्धारित करना चाहिए कि क्या सलाहकार सेवाओं की आवश्यकता है. सलाहकार की नियुक्ति एक अच्छा निवेश हो सकता है. एक अच्छा सलाहकार उपयोगी जानकारी प्रदान करने का प्रभावी स्रोत होता है. आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली कार्यान्वयन कार्यक्रम अपनी पटरी पर चलता रहे इसके लिए सलाहकार समय समय पर आवश्यक और उपयोगी सलाह देता है. सलाहकार सेवायें लेने के लिए निम्न पांच कारण हो सकते हैं :
- सलाहकार के पास पर्याप्त अनुभव, दक्षता और समय होता है, जो कर्मचारियों में संभवतः न हो.
- सलाहकार समय के मामले में लचीलापन रखते हैं. वे किसी भी समय (अर्थात रात-दिन, सप्ताहांत व अवकाश के दिन) भी काम करने को तैयार रहते हैं, जब तक प्रोजेक्ट पूरा ना हो जाए.
- सलाहकार नवीनतम और विषयपरक जानकारी प्रस्तुत करते हैं. अपने अनुभवों के आधार पर सलाहकार नवीनतम और निष्पक्ष विचार सामने रखते हैं.
- सलाहकार सदभाव के साथ प्रोजेक्ट पूरा करने के लिए तत्पर और केन्द्रित रहते हैं.
- सलाहकार आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली कार्यान्वयन के सही प्रयास के प्रमाण हो सकते हैं. सलाहकार की सेवाओं का उपयोग यह दिखाने के लिए किया जा सकता है कि संस्था ने गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली अनुपालना के लिए वास्तविक प्रयास किये हैं.

सलाहकार की नियुक्ति के लिए निम्न बातों को ध्यान में रखना चाहिए :
- सलाहकार की योग्यता,
- सलाहकार की लागत (शुल्क).

सलाहकार की नियुक्ति के लिए परिचालन समिति को यह तय करना चाहिए कि सलाहकार का क्या दायित्व होगा. आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली कार्यान्वयन में हर बात के लिए उत्तरदायित्व सलाहकार पर ना डालें. हमेशा यह ध्यान रखें कि सलाहकार का दायित्व मार्गदर्शन देना और उपयोगी जानकारी प्रदान करना है, जबकि वास्तविक कार्यान्वयन प्रयास संस्था को करने हैं.

इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग .....