Sunday, August 28, 2011

गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा


गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा


क्या किसी संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा अर्थात विस्तार (मात्रा) दूसरी संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा अर्थात विस्तार (मात्रा) से भिन्न हो सकता है और क्यों?


एक संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा अर्थात विस्तार (मात्रा) दूसरी संस्था के गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली प्रलेखन की सीमा अर्थात विस्तार (मात्रा) से भिन्न हो सकता है, जिसके निम्न (एक या अधिक) कारण हो सकते हैं :-

- संस्था का आकार,

- संस्था के क्रियाकलापों का प्रकार,

- संस्था की प्रक्रियाओं की जटिलता और उनके बीच अन्तर्सम्बन्ध,

- संस्था के कार्मिकों की सक्षमता


इस लघु लेख में दी गयी जानकारी आपको कैसी लगी? कृपया अपनी प्रतिक्रिया से अवगत करायें.

शुभकामनाओं सहित,

केशव राम सिंघल

साभार - केशव राम सिंघल व डा. दिव्या सिंघल द्वारा संपादित 'आईएसओ ९००१:२००८ गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर प्रश्नोत्तर संदर्शिका', जिसे प्राप्त करने के लिए निम्न लिंक देखें -

http://iso9001awareness.blogspot.com/2011/07/management-systems-awareness.html

हिंदी में आईएसओ 9001 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली पर जानकारी देने वाला पहला ब्लॉग ....

कृपया अधिक से अधिक लोगों और संस्थाओं तक इस ब्लॉग की जानकारी भेजकर 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' पर जागरूकता बढाने के हमारे प्रयास में सहभागी बनें.


आप 'गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली' से सम्बंधित विषय पर अपने विचार हमें भेज सकते हैं. धन्यवाद .... कृपया इस ब्लॉग का लिंक अपने फेसबुक, ब्लॉग, ट्विटर और ईमेल द्वारा अधिक से अधिक लोगों के बीच साझा (शेयर) करें. धन्यवाद.


No comments:

Post a Comment