Friday, March 10, 2017

#14 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता - प्रचालन - उत्पाद / सेवा का परिरुप और विकास


#14 - आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता

प्रचालन - उत्पाद / सेवा का परिरुप और विकास

(8.3) उत्पाद / सेवा का परिरुप और विकास


उत्पाद / सेवा का परिरुप और विकास एक महत्वपूर्ण गतिविधि है, जिसमें कई प्रक्रियाएं शामिल होती है ताकि किसी प्रयोजन/ईकाई/उत्पाद/सेवा के लिए जरूरतें और उम्मीदें और अधिक विस्तृत अपेक्षाओं में बदली जा सकें.

'परिरुप' और 'विकास' शब्द और 'परिरुप और विकास' पद कभी-कभी समानार्थक रूप से उपयोग में आते हैं.

(8.3.1) सामान्य

संस्थापित करें, कार्यान्वित करें और संपोषित करें - परिरुप और विकास प्रक्रिया (उत्पाद/सेवा अपेक्षाओं के उपयुक्त) जिसमें इसकी आयोजना, निवेश, नियंत्रण, निर्गत और परिवर्तन शामिल हो.

(8.3.2) परिरुप और विकास आयोजना

परिरुप और विकास प्रक्रिया के चरण और नियंत्रण निर्धारण के लिए विचार करें - (1) प्रक्रिया की प्रकृति, अवधि और जटिलताए, (2) अपेक्षित प्रक्रिया चरण, (3) लागू पुनरीक्षण, (4) अपेक्षित सत्यापन गतिविधियाँ, (5) अपेक्षित वैधीकरण गतिविधियाँ, (6) शामिल उत्तरदायित्व और प्राधिकार, (7) संसाधन (आतंरिक और बाहरी) आवश्यकताएं, (8) शामिल व्यक्तियों के बीच अंतरफलक नियंत्रण की आवश्यकताएं, (9) ग्राहक / उपयोगकर्ता को शामिल करने की आवश्यकता, (10) अनुवर्ती उत्पाद/सेवा अपेक्षाएं, (11) ग्राहकों / इच्छुक दलों द्वारा चाहे गए नियंत्रण का स्तर, (12) दस्तावेज जानकारी आवश्यकताए.

निर्धारित करें - (1) परिरुप और विकास प्रक्रिया के लिए चरण, (2) आवश्यक दस्तावेज जानकारी.

(8.3.3) परिरुप और विकास निवेश

विचार करें - (1) कार्यात्मक और निष्पादन अपेक्षाएं, (2) पूर्व समान परिरुप और विकास गतिविधियों से जानकारी, (3) वैधानिक अपेक्षाएँ, (4) पालन / कार्यान्वित करने वाले मानक, (5) पालन / कार्यान्वित करने वाले अभ्यास की संहिता, (6) असफलता के संभावित परिणाम.

निर्धारित करें - परिरूप और विकास किए जाने वाले उत्पाद / सेवा के लिए आवश्यक अपेक्षाएँ.

सुनिश्चित करें - (1) निवेश अपेक्षाएँ पर्याप्त, पूरी और स्पष्ट हों, (2) परस्पर विरोधी अपेक्षाओं क्ा समाधान.

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - परिरुप और विकास निवेश

(8.3.4) परिरुप और विकास नियंत्रण

लागू करें - परिरुप और विकास नियंत्रण.

सुनिश्चित करें - (1) प्राप्त किए जाने वाले परिणामों को परिभाषित करना, (2) अपेक्षाएँ पूरी करने के लिए परिरुप और विकास की सक्षमता का मूल्यांकन करने के लिए पुनरीक्षण आयोजित करना, (3) सत्यापन गतिविधियाँ आयोजित करना यह सत्यापित करने के लिए कि परिरुप और विकास निर्गत परिरुप और विकास निवेश अपेक्षाओं को पूरा कर रहे हैं, (4) वैधीकरन गतिविधियाँ आयोजित करना यह सुनिश्चित करने के लिए कि परिनामित उत्मपद / सेवा निर्दिष्ट उपयोग / चाहे उपयोग के लिए अपेक्षाओं को पूरा करते हैं,(5) परिरुप और विकास नियंत्रण (पुनरीक्षण/सत्यापन/वैधीकरण) गतिविधियों के दौरान समस्याओं पर आवश्यक कार्रवाइयाँ करना.

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - परिरुप और विकास नियंत्रण गतिविधियाँ.

(8.3.5) - परिरुप और विकास निर्गत

सुनिश्चित करें - परिरूप और विकास निर्गत - (1) निवेश अपेक्षाओं को पूरा करते हैं, (2) अनुवर्ती गतिविधियों के लिए पर्याप्त हैं, (3) उपयुक्त निगरानी और मापन अपेक्षाओं को शामिल / वर्णित करते है, (4) स्वीकृति मापदंडों को शामिल / वर्णित करते है, (5) उत्पाद / सेवा विशेषताओं (चाहे उद्देश्य, सुरक्षित और उचित व्यवस्था के लिए जरुरी) को वर्णित करते हों.

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - परिरुप और विकास निर्गत.

(8.3.6) परिरुप और विकास परिवर्तन

पहचान करें, पुनरीक्षण करें और नियंत्रित करें - परिरुप और विकास परिवर्तन (उद्देश्य - यह सुनिश्चित करने के लिए कि उत्पाद / सेवा पर कोई प्रतिकूल प्रभाव ना पड़े.

दस्तावेज जानकारी प्रतिधारित करें - परिरुप और विकास परिवर्तन, पुनरीक्षण के परिणाम, परिवर्तनों की प्राधिकृति और की गयी कार्रवाई.

- केशव राम सिंघल

आपको यह लेख कैसा लगा, कृपया अपनी टिप्पणी से अवगत कराएं. धन्यवाद.

आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली जागरूकता से संबंधित लेखों का उद्देश्य आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली के सम्बन्ध में जागरूकता फैलाना है. इन लेखों को आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक के एक विकल्प के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए. संस्था में गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली कार्यान्वित करने के लिए आईएसओ 9001:2015 गुणवत्ता प्रबंध प्रणाली मानक का उपयोग करना चाहिए, जिसे आप अंतरराष्ट्रीय मानक संस्था 'आईएसओ' से या उसके राष्ट्रीय सदस्य संस्था (भारत में 'भारतीय मानक ब्यूरो') से प्राप्त कर सकते हैं.

शब्दावली के लिए क्लिक करें.






No comments:

Post a Comment